एक चौथाई कार्यकाल के बाद प्रसिद्ध देवा ब्लाक में विकास की स्थिति कुछ- कुछ ठीक रही है!

बाराबंकी: पंचायत गठन की मौजूदा पंचवर्षीय का एक चौथाई कार्यकाल बीत चुका है, ऐसे में बहुत से ब्लाक और पंचायतें जहां अपने यहां विकास के मूलभूत कार्यों के लिए ही संघर्षरत हैं, वहीं बाराबंकी का देवा ब्लाक काफी हदतक इस प्रयास में सफल रहा है। हालांकि कुछ जगह स्थित निराशाजनक भी है। प्रस्तुत है देवा ब्लाक की कुछ पंचायतों के बारे में विकास की कुछ तस्वीरें:-

धरसण्डा के प्रधान राकेश कुमार ने एक साल-डेढ़ साल में बेशुमार कार्य करवाए हैं। कायाकल्प से स्कूलों की मरम्मत के साथ सौंदर्यीकरण करवाया है। पंचायत भवन का सुधार हुआ है। इसके अलावा इंटरलांकिग नालियां सड़कें आदि सब पर ध्यान दिया जा रहा है। राकेश कुमार की लोकप्रियता और विश्वसनीयता लोगों में इस तरह है कि पिछले कई पंचायत चुनाव से उनका ही नाम सबसे आगे रहता है। लोगों की सभी समस्याएं हल होती हैं, सबके दरवाजे विकास कार्य पहुंचते हैं।

पहाड़पुर कुतलूपुर के लोग जब दस साल तक विकास से जैसे दूर कर दिए गए तब इस बार लोगों ने मिलकर फिर से रामविलास यादव को प्रधान चुना जो कि पहले भी 2005-10 के बीच प्रधान रहे थे। नतीजा सामने है, एक साल में ही रामविलास यादव ने पंचायत में विकास कार्यों की झड़ी लगा दी है। पहले के सालों में यहां सफाई कर्मी आते नही थे नदारद रहते थे वहीं अब चार चार सफाई कर्मी पंचायत में रेगुलर हाजिरी भरते हैं, गांवों को स्वच्छ रखते हैं, पिछले एक साल में रामविलास यादव ने करीब 380 मीटर इंटरलांकिग का कार्य करवाया है और इतना ही जल्द करवाने वाले हैं, इसके अलावा उन्होंने मिनी सचिवालय की मरम्मत करवाई है, सामुदायिक शौचालय ठीक करवाया है स्कूलों में दिव्यांग शौचालय के साथ टाइल्स आदि का काम करवाया है, रामविलास यादव की विशेषता रही है कि वे सभी कार्य पूरे मानकों के साथ करवाते हैं। उनकी एक विशेष उपलब्धि यह है कि उन्होंने 180 मीटर की इंटरलांकिग के साथ ही 180 मीटर का भूमिगत नाला बनवाया है। जिससे जल निकासी की समस्या दूर करने का प्रयास किया है। लोगों ने बताया कि कुछ जगह लोग प्रधान के विकास कार्य में रोड़े अटका रहे हैं, जो खुद अपना नुकसान कर रहे हैं। रामविलास यादव ने बताया कि अमृत सरोवर और पानी की टंकी का कार्य भी जल्द शुरू होगा ‌‌।

मित्तई के प्रधान मुनेश्वर यादव जो कि लगातार कई बार के प्रधान हैं, उन्होंने इस कार्यकाल के एक साल में करीब 700 मीटर नालियां बनवाईं है, 350 मीटर इंटरलांकिग का काम करवाया है। उनके पुत्र संतोष यादव ने बताया कि पंचायत भवन, सामुदायिक शौचालय आदि सरकारी भवनों को सुधार कर अन्य कामों का प्रयास जारी है।

खेवली के प्रधान अनवारूल हक उर्फ 'लबू' ने प्रधानी चुनाव से पहले ही नरसिंह मंदिर और उसके पीछे ईदगाह और कर्बला आदि की बाउंड्री आदि अपने धन से बनवाई थी। खेवली की जनता के अनुसार प्रधान सुबह से शाम तक बैठकर लोगों की व पंचायत की समस्याएं सुलझाते हैं। एक साल में उन्होंने करीब 500 मीटर इंटरलांकिग लगवाई है, जर्जर स्वास्थ्य केंद्र पर से दबंगों का कब्जा हटवाया है। सोकपिट आदि बनवा रहे हैं। उन्होंने बताया कि जल निगम वाले पानी टंकी के लिए मिट्टी का सैंपल ले गए लेकिन फिर पलट कर झांकने तक नहीं आए। अमृत सरोवरों का काम चल रहा है। पंचायत में कई सौ लोगों के आवास की जरूरत है। क्षेत्र के लोगों का कहना है कि पंचायत में गौशाला कागजों पर बनी है, हकीकत में नहीं है।

महमूदाबाद की प्रधान रंजो देवी ने बताया कि अपने एक साल के कार्य काल में उन्होंने पंचायत भवन सामुदायिक शौचालय बनवाया हैं। इसके अलावा उन्होंने पंचायत में लगभग 350 मीटर इंटरलांकिग लगवाई है जो कि एक बड़ी उपलब्धि है। पंचायत वासियों का कहना है कि महमूदाबाद में बहुत सालों से कोई विकास कार्य नहीं हुए थे, अब जाकर लगता है कि यहां कोई ग्राम प्रधान भी है। रंजो देवी के पति व प्रतिनिधि अमर सिंह के प्रयासों से आंगनबाड़ी का निर्माण हो रहा है और स्कूलों में खूब काम हो रहा है। लोगों की शिकायत है कि सफाईकर्मी का पद कुछ माह से रिक्त पड़ा है जिसकी वजह से सफाई आदि कार्यक्रम नहीं हो रहे हैं। इसके अलावा स्कूलों की बाउंड्री आदि के साथ पानी की टंकी, अमृत सरोवर योजना आदि के प्रयास जारी हैं।

पीरानगर के प्रधान संजय सिंह ने अब तक करीब 400 मीटर इंटरलांकिग लगवाई है, पंचायत घर बनवाया है और पानी की टंकी के प्रयास में हैं। मजरा अंबरपुर वासियों ने बताया कि दशकों से गांव में कोई कार्य नहीं हुए थे लेकिन अब संजय सिंह के प्रधान बनने के बाद अंबरपुर सहित कई मजरों में रास्ते नालियां आदि सही हो रहे हैं।

उखड़ी के प्रधान राजेश गिरी ने एक साल में पंचायत घर मरम्मत करवाया, स्कूलों में टाइल्स आदि लगवाए दिव्यग शौचालय बनवाए हैं, साथ ही उन्होंने लगभग 400  मीटर इंटरलांकिग और करीब 400 मीटर नालियों का निर्माण मरम्मत करवाया है ‌

दाउदपुर की प्रधान कृष्णावती और पूर्व प्रधान व प्रतिनिधि रामदास ने बताया कि पंचायत में पंचायत भवन ही नहीं है, क्यों कि 2021 में चुनाव पूर्व प्रशासक काल के 6 महीने में पंचायत घर जहां पास हुआ था वहां से दूसरी गलत जगह बनाने का प्रयास किया गया था, अब उस गलत कार्य की जिम्मेदारी कोई नही ले रहा है, साथ ही गौशाला के लिए 82 बीघा जमीन प्रस्तावित थी जिसमें से सिर्फ 25-30 बीघे जमीन पर ही सिर्फ खाई खोद कर काम आधा- अधूरा छोड़ दिया गया था। अब इन अधूरे कार्यो को पूरा कराने या उसकी जिम्मेदारी लेने के लिए कोई आगे नही आ रहा है। अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं।

कैमा की प्रधान रीता वर्मा और उनके पति व प्रतिनिधि गजेन्द्र कुमार ने अब तक पंचायत भवन स्कूलों आदि के काम करवाए हैं। पानी की टंकी प्रस्तावित है नालियों की मरम्मत होने वाली है और करीब 300 मीटर इंटरलांकिग भी बन रही है।

भिठोली खुर्द के प्रधान देवेन्द्र कुमार यादव और उनके प्रतिनिधि पिता अयोध्या प्रसाद ने  एक साल में अपने क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य करवाए हैं। इंटरलांकिग, नालियां, रास्ते, खड़ंजे, लोगों को आवास, नल रिबोर और स्कूलों का कायाकल्प भी हुआ है। अन्य कामों के प्रयास चल रहे हैं।

सालेह नगर के प्रधान राजेंद्रप्रसाद यादव ने अब तक, करीब 200 मीटर इंटरलांकिग करवाई है। 70 मीटर नालियां बनवाई हैं। अमृत सरोवर बन रहा है, पानी की टंकी पर काम चल रहा है। स्कूल की बाउंड्री जर्जर है लेकिन टाइल्स और दिव्यांग शौचालय पर काम हुआ है। राजेन्द्रप्रसाद यादव शमशान घाट और बारात घर के प्रयास में हैं।

खनवाहा के नवयुवा प्रधान उमेश चंद्र रावत एक साल में पंचायत के विकास के लिए लगातार प्रयास किए हैं। वर्षों से बहुत कार्य नहीं हो पाए हैं, अब तक अधूरे हैं, जिन्हें पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है।

मोहनपुर की प्रधान शिवरानी व उनके पुत्र व प्रतिनिधि रामू कुमार कई कार्य करवा चुके हैं, स्कूल आदि के साथ और कई के प्रयास कर रहे हैं।

कुसुंभा की प्रधान फूलमती और उनके पति व प्रतिनिधि संत कुमार ने अपनी पंचायत में कई विकास कार्य करवाए हैं, लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाया है, इसीलिए शायद वहां की जनता ने उन्हें दोबारा जिताकर सेवा का लगातार मौका दिया था!

हर्रई की प्रधान राम दुलारी ने अब तक बहुत कार्य करवाए हैं, स्कूलों में टाइल्स, दिव्यांग शौचालय, पंचायत भवन मरम्मत, नाली रास्ते सुधार आदि के साथ सभी जनुपयोगी कार्य करवाए हैं। उनके पति व प्रतिनिधि गयाप्रसाद ने बताया कि विरोधियों ने हर निर्माण कार्य की दुर्भावना पूर्ण शिकायत कर विकास में बहुत बाधाएं खड़ी की हैं। लेकिन किसी भी जांच में कोई कमी नहीं पाई गई है।

कुरखिला की प्रधान शिवरानी और उनके पति व प्रतिनिधि रामप्रकाश ने पंचायत का काम पूरा करवाया, पंचायत में एक ही स्कूल है जिसका कायाकल्प उन्होंने करवाया है। इसके अलावा आंगनबाड़ी भवन वर्षों से अधूरा व जर्जर पड़ा है, जिस पर प्रशासन का ध्यान नही है। इंटरलांकिग नाली आदि बनने वाली हैं।

तासपुर के बलदेव ने अपने प्रयास जारी रखे हैं। पंचायत घर अभी भी अधूरा पड़ा है, इसके अलावा वे फतेहपुर रोड पर ढिंढोरा कोल्ड स्टोरेज से मुनियापुरवा गांव तक कच्चे संपर्क मार्ग पर सड़क बनवाने के प्रयास में हैं।

रीवा रतनपुर की प्रधान बड़की ने सोकपिट बनवाए हैं, नल रिबोर करवाए और करीब 400 मीटर इंटरलांकिग लगवाई है। नया पंचायत घर बनना है जिसका प्रयास जारी है।

कैमई के प्रधान हरिनाम यादव ने कई विकास कार्य करवाए हैं, इब्राहिमपुर कलां के प्रधान संतराम ने, टेरा कलां की प्रधान फूलकली, टेरा खुर्द की प्रधान सुमित्रा आदि ने अपनी पंचायतों में एक साल में बेहतर प्रयास किए हैं।


 ===========================================================================

(यह रिपोर्ट आपको कैसी लगी कृपया ईमेल- jansuchnatimes@gmail.com, व्हाट्सएप-  ( 9451161995 ), फोन आदि माध्यमों से हमें जरूर बताएं, ताकि खबर संबंधी, विज्ञापन संबंधी कुछ कमी हो, गलती हो, या शिकायत हो, तो हम उसे सुधार सकें, साथ ही अपने  बहुमूल्य विचार भी प्रकट करें ,

इस रिपोर्ट को आप अपने क्षेत्र, कार्य सहयोगी ,जनता व जिम्मेदार पदों तक शेयर भी करें! धन्यवाद! )

Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image