गाय ने निगली सोने की चेन, 35 दिन रखी गोबर पर नजर, नहीं मिली तो किया ये काम

कर्नाटक के सिरसी तालुक के हीपानाहल्ली में एक शख्स की गाय ने 20 ग्राम की चेन निगल ली। पहले तो शख्स ने करीब महीने भर गाय के गोबर पर नजर रखी।

कर्नाटक के सिरसी तालुक के हीपानाहल्ली में एक शख्स की गाय ने 20 ग्राम सोने की चेन निगल ली। पहले तो शख्स ने करीब महीने भर गाय के गोबर पर नजर रखी। लेकिन जब बात नहीं बनी तो वह डॉक्टर के पास पहुंचा। डॉक्टर ने मेटल डिटेक्टर से चेन का पता लगाया और गाय की सर्जरी कर उसे बाहर निकाल लिया। रिपोर्ट्स के अनुसार, श्रीकांत हेगड़े के पास एक 4 साल की गाय और उसका बछड़ा है। दरअसल, दीपावली के बाद उन्होंने गौ पूजा की। इसके लिए उन्होंने गाय व बछड़े को नहलाया कर उनका फूल-मालाओं श्रृंगार किया। बता दें, कुछ लोग गाय को 'लक्ष्मी' का भी रूप मानते हैं। ऐसे में वे अपनी गाय को कीमती आभूषणों से भी सजाते हैं। हालांकि पूजा के बाद गहने वापस ले उतार लिए जाते हैं।
परिवार से हो गई एक गलती...

श्रीकांत हेगड़े के परिवार ने बछड़े को 20 ग्राम की गोल्ड चेन पहनाई थी। लेकिन चेन निकालने के बाद उसे वह फूल और अन्य समान के साथ उन्होंने गाय के सामने रख आए। बाद में पाया कि सोने की चेन गायब है। उन्होंने चेन को खूब ढूंढा। लेकिन नहीं मिली। बाद में, घरवालों ने अनुमान लगाया कि शायद गाय ने वहां रखे फूलों के साथ चेन भी निगल ली होगी।

30 से 35 दिन चेक किया गोबर

इसके बाद परिवार के सदस्यों ने लगभग 30 से 35 दिनों तक गाय का गोबर चेक किया कि शायद उन्हें चेन वहां मिल जाए। पर अफसोस उन्हें कुछ नहीं मिला। अंत में वो मदद के लिए पशु चिकित्सक के पास गए, जिसने मेटल डिटेक्टर की मदद से गाय की जांच की और बताया कि उसके पेट में धातु है। इसके बाद गाय का पेट स्कैन कर ये पता लगाया गया कि चेन पेट में कहां फंसी है।
20 से इतने ग्राम की हो गई चेन

परिवार के अनुरोध पर की सर्जरी कर उस सोने की चेन को निकाल लिया गया। हालांकि, चेन का वजन 20 से घटकर 18 ग्राम हो गया। क्योंकि उसका एक छोटा सा हिस्सा गायब है। खैर, परिवार अपनी कीमती चेन पाकर खुश है। लेकिन उन्हें इस बात का अफसोस है कि गाय को इस सब से गुजरना पड़ा।
Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image