2 जून तक आंधी-बारिश रहेगी जारी, लखनऊ, ब्रज और रुहेलखंड के 20 जिलों के लिए चेतावनी

मौसम विभाग (Met Department) की जारी चेतावनी के मुताबिक 30 मई यानी आज शनिवार को भी पश्चिमी यूपी से लेकर पूर्वी यूपी तक कई जगहों पर आंधी-बारिश का ज्यादा जोर रह सकता है. मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि प्रदेश में 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी चल सकती है. बारिश की भी संभावना जताई है. साथ ही कुछ जगहों पर ओले पड़ने की भी संभावना बताई गई है.



लखनऊ. मौसम विभाग (Met Department) ने अनुमान लगाया है कि आंधी-बारिश (Thunderstorm-Rainfall) का जैसा मौसम इस समय उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh) में बना हुआ है, ऐसा 2 जून तक चलेगा. इस दौरान पूरे यूपी में आंधी और बारिश का सिलसिला जारी रहेगा. कहीं ज्यादा तो कहीं कम बारिश हो सकती है लेकिन कुल मिलाकर मौसम ठंडा बना रहेगा. इस बीच बीती रात आए आंधी-पानी से कई जिलों में नुकसान भी हुआ है, जिसका डेटा सरकार जुटा रही है.

प्रदेश में चल रही तपिश तो जाती रही लेकिन, आंधी-बारिश की वजह से प्रदेश के कई जिले प्रभावित हुए हैं. आगरा में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है. इसी बीच मौसम विभाग ने ताजा अपडेट जारी किया है. मौसम विभाग की जारी चेतावनी के मुताबिक 30 मई यानी आज शनिवार को भी पश्चिमी यूपी से लेकर पूर्वी यूपी तक कई जगहों पर आंधी-बारिश का ज्यादा जोर रह सकता है. मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि प्रदेश में 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी चल सकती है. बारिश की भी संभावना जताई है. साथ ही कुछ जगहों पर ओले पड़ने की भी संभावना बताई गई है.

लखनऊ सहित 20 जिलों के लिए चेतावनी


मौसम विभाग के अनुसार आज दोपहर तक लखनऊ सहित लगभग 20 जिलों में फिर से मौसम बदल जाएगा. इनमें ब्रज क्षेत्र के अलावा रुहेलखंड और लखनऊ के आसपास के जिले शामिल रहेंगे. 31 मई को मौसम के रूख में थोड़ी नरमी आएगी. हवा की रफ्तार भी कम जाएगी. अभी तक के अनुमान के मुताबिक 2 जून तक आंधी-बारिश जारी रहेगी.

बता दें कि आंधी-बारिश से आगरा में बहुत नुकसान हुआ है. हालांकि अभी तक किसी दूसरे जिले से नुकसान की कोई सूचना नही आई है. सरकार ने सभी जिलों से रिपोर्ट मांगी है.

पारा हुआ धड़ाम

बदले मौसम की वजह से प्रदेश से तपिश विदा हो गयी है. शुक्रवार को दर्ज तापमान को देखें तो पता चलता है कि प्रदेश में सिर्फ 3 ही जिले ऐसे थे, जहां तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के ऊपर था. ये जिले इटावा (43.8), बांदा (41) और झांसी (40.6) थे. बाकी किसी भी शहर में पारा 40 तक नहीं चढ़ सका. मुजफ्फरनगर में तो पारा 30 डिग्री तक आ गिरा है. ये सिलसिला जारी रहेगा.


Popular posts
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image
एक चौथाई कार्यकाल के बाद प्रसिद्ध देवा ब्लाक में विकास की स्थिति कुछ- कुछ ठीक रही है!
Image
शहीद भगत सिंह वार्ड द्वितीय (नया वार्ड) : युवा जोश युवा सोच से ओत- प्रोत वीरेंद्र राजपूत
Image