राजद्रोह मामला में तीनों इंजीनियरिंग छात्रों को फिर गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में गया भेजा

हुबली-धारवाड़ के पुलिस आयुक्त आर. दिलीप ने कहा, ‘‘ उन्हें (कश्मीरी छात्रों को) गिरफ्तार कर लिया गया और अदालत के समक्ष पेश कर उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।’’रविवार को इन छात्रों की रिहाई को लेकर पुलिस की खासी आलोचना हुई थी।





हुबली। पुलवामा हमले की बरसी पर पाकिस्तान के समर्थन में कथित रूप से नारेबाजी करने और सोशल मीडिया पर उसका वीडियो पोस्ट करने को लेकर राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किए गए तीन कश्मीरी छात्रों को रिहाई के बाद सोमवार को फिर गिरफ्तार कर लिया गया है। सीआरपीसी की धारा 169 के तहत बांड भरवाकर तीनों छात्रों को रिहा करने के पुलिस के फैसले के खिलाफ विरोध प्रदर्शन होने के बाद यह कार्रवाई की गई।ये तीनों कर्नाटक में हुबली जिले के एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र हैं।


हुबली-धारवाड़ के पुलिस आयुक्त आर. दिलीप ने  कहा, ‘‘ उन्हें (कश्मीरी छात्रों को) गिरफ्तार कर लिया गया और अदालत के समक्ष पेश कर उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।’’रविवार को इन छात्रों की रिहाई को लेकर पुलिस की खासी आलोचना हुई थी।पुलिस सूत्रों के अनुसार, तीनों छात्रों को आज सोमवार की सुबह गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया गया।छात्रों की रिहाई के विरोध में दक्षिणपंथी संगठनों के कुछ सदस्यों ने रविवार को पुलिस थाने के बाहर प्रदर्शन किया था, जिसके बाद यह कार्रवाई की गई।पुलिस सूत्रों ने बताया कि गृहमंत्री बासवराज बोम्मई ने भी पुलिस अधिकारियों से इस मामले में बातचीत की थी।



Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image