हेलमेट मे छिपकर बैठा था जहरीला सांप, एसे बची जान..


केरल। वैसे तो मौत के ऊपर किसी का वश नहीं चलता, मौत कब और कहां से आ जाती है, कोई इसके बारे में नहीं जान सकता। लेकिन थोड़ी सी सावधानी के जरिये हम दुर्घटना को टाल सकते हैं। लेकिन इस मामले में कई बार किस्मत भी अहम रोल प्ले करती है। अब जिस शख्स के बारे में हम बात कर रहे हैं, उसकी किस्मत ही थी, जिसने उसे मौत से बचा लिया। 

हेलमेट में मौत 

वैसे तो लोग हेलमेट अपनी जान रोड एक्सीडेंट से बचाने के लिए पहनते हैं। लेकिन केरल में रहने वाले के ए रंजीत ने हेलमेट में ही मौत को डालकर पहन लिया। उन्हें पता ही नहीं था कि उनके हेलमेट में ऐसी चीज है, जो उनकी पल भर में जान ले सकती है। दरअसल, स्कूल टीचर रंजीत के हेलमेट में एक बेहद जहरीला सांप छिपकर बैठा था। जिसे उन्होंने देखा नहीं और हेलमेट पहनकर आराम से बाइक चलाते रहे। 

 

11 किलोमीटर तय किया सफर 

संत मैरी हाई स्कूल में संस्कृत के टीचर रंजीत अपने घर से सुबह स्कूल केलिए निकले थे। उन्होंने रात को बाइक घर के बाहर खड़ी की और सुबह बिना देखे हेलमेट पहनकर स्कूल के लिए निकल गए। उन्होंने 11 किलोमीटर का सफर तय किया। जब स्कूल पहुँचने के बाद उन्होंने हेलमेट खोला तो उनके होश उड़ गए। हेलमेट में एक बेहद जहरीला सांप छिपकर बैठा था हालांकि, इतनी देर सिर के अंदर रहने के कारण कुचले जाने से उसकी मौत हो गई थी।  

तुरंत गए हॉस्पिटल 

हेलमेट में सांप देखने के बाद स्कूल के कुछ साथियों के साथ रंजीत हॉस्पिटल गए। ताकि पता चल पाए कि उन्हें कुछ हुआ तो नहीं है। ब्लड टेस्ट के बाद ये कन्फर्म हुआ कि रंजीत को सांप ने नहीं काटा था। बाद में रंजीत ने बताया कि उनके घर एक बगल में एक पोखर है। हो सकता है ये सांप वहीं से आया हो।

Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image