घाट में कार से गिरने के बाद भी 5 साल की बच्‍ची मिली जिंदा


तीर्थहल्ली।‘जाके राखो साइयां..मार सके ना कोय’ की कहावत कर्नाटक के अगुम्बे घाट में उस समय चरितार्थ हुई जब एक कार से घने जंगलों से घिरे सड़क पर गिरी एक पांच वर्षीय बच्ची सुरक्षित पाई गई। बच्ची को बाद में उसके माता-पिता को सौंप दिया गया। पुलिस के अनुसार कार में बैठकर मंगलुरु से शिमोगा जा रहा एक व्यक्ति ने अगुम्बे घाट में सड़क पर बच्ची को रोता पाया। उसने बच्ची को वहां से अगुम्बे पुलिस को सौंप दिया।

 

जब बच्ची का परिवार तमिलनाडु और केरल की यात्रा कर कार से लौट रहा था तब थकवाट के कारण परिवार के सदस्य सो गये और इस बीच बच्ची वाहन से गिर गई और उस समय किसी की नजर उस पर नहीं पड़ी। जब कार कोप्पा पहुंची तक परिवार के एक सदस्य की नींद खुली और उसने बच्ची को कार में नहीं पाया। इसके बाद परिवार उसी सड़क पर लौटा और जब वह अगुम्बे पहुंचे तब उन्हें पता चला कि उनकी बच्ची पुलिस के पास सुरक्षित है। पुलिस ने बच्ची के माता-पिता को लापरवाही बरतने को लेकर चेतावनी भी दी। 

Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image