चीन में कोरोना से तबाही रोकने लिए सिर्फ 2 घंटे सो रही यह लडकी


नई दिल्ली। चीन से शुरू हुआ कोरोना वायरस का संक्रमण दुनिया के कई देशों में फैल चुका है। एक महिला साइंटिस्ट जानलेवा कोरोना वायरस से लोगों को बचाने के लिए दिन-रात लगातार काम कर रही है। स्कॉटलैंड की रहने वाली केट ब्रोडरिक कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन का आविष्कार करने की कोशिश कर रही हैं। द टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रोडरिक रातों में सिर्फ 2 घंटे सो रही हैं। ब्रोडरिक करीब 20 सालों से खतरनाक बीमारियों से बचाव के लिए वैक्सीन तैयार करने का काम कर रही हैं। उन्हें इबोला, जीका जैसी बीमारियों को रोकने के लिए दवा बनाने में सफलता भी मिली है। डॉ. ब्रॉडरिक ने कहा कि उन्हें लगता है कि उन पर ये जिम्मेदारी आ गई है कि वह ये काम जल्द पूरा करें. वह फिलहाल चूहे और सुअर पर वैक्सीन टेस्ट कर रही हैं।

 

अमेरिका के यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के साथ काम करने वालीं डॉ. ब्रॉडरिक के पास रिसर्च के लिए एक टीम है। उन्होंने कहा कि फिलहाल एक रात में वह औसतन सिर्फ 2 घंटे सो पा रही हैं। दो बच्चों की मां डॉ. ब्रॉडरिक ने बताया कि वह छुट्टियां बिता रही थीं तभी उन्हें चीन के वुहान में कोरोना वायरस के फैलने की जानकारी मिली. जैसे ही चीनी अधिकारियों ने कोरोना वायरस का जेनेटिक कोड जारी किया, डॉ. ब्रॉडरिक ने 3 घंटे के भीतर वैक्सीन तैयार कर ली। उन्होंने कहा कि वैक्सीन डिजाइन के अगले ही दिन उसे तैयार करने के लिए फैक्ट्री में भेज दिया गया. डॉ. ब्रॉडरिक की टीम को बिल गेट्स समर्थित एक संस्था से फंड भी मिल चुका है।

Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image