भगत सिंह का रोल कर रहे छात्र के गले में फंसा फांसी का फंदा, हो गई मौत


मंदसौर। मध्यप्रदेश के मंदसौर में एक रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना सामने आई। मंदसौर में एक स्कूली बच्चे को नाटक का पात्र निभाना जान पर भारी पड़ गया। नाटक के पात्र के रिहर्सल के दौरान फांसी का फंदा कसने से बच्चे की मौत हो गई। बच्चे के स्कूल में भगत सिंह को लेकर एक नाटक हुआ था जिसमें उसने खुद एक अंग्रेज सिपाही का रोल किया था। स्कूली नाटक के बाद बच्चे ने घर आने के बाद भगत सिंह का रोल करने की कोशिश की थी और इस दौरान उसने फांसी का दृश्य करने का प्रयास किया।

 

मिली जानकारी के मुताबिक मंदसौर के भोलिया गांव में रहने वाले 12 साल के छात्र प्रियांशु मालवीय का शव उसके खेत में बने टपरे (जमीन) में मिली। बच्चे के गले में फांसी का फंदा कसा हुआ था। प्रियांशु ज्ञान सागर स्कूल बड़वन में पढ़ता था। बताया जा रहा है कि बीते एक फरवरी को उसके स्कूल में वार्षिकोत्सव था। इसमें शहीद भगत सिंह और सुखदेव के जीवन पर आधारित नाटक हुआ था।

 

प्रियांशु मालवीय उसमें अंग्रेज सिपाही बना था। फंक्शन निपट जाने के बाद प्रियांशु अपने घर लौटा और अगले दिन अपने खेत पर भगत सिंह बनकर उसका रोल करने लगा। वो उन्हें दी गई फांसी का सीन कर रहा था। खेत में बने टपरे में लगे बांस पर उसने रस्सी कसकर फांसी का फंदा बनाया और शहीद भगत सिंह के फांसी का सीन करने की कोशिश की। इस दौरान प्रियांशु के गले में फांसी का फंदा कस गया और दम घुटने से उसकी मौत हो गयी। कुछ देर बाद घरवालों की प्रियांशु पर नजर पड़ी लेकिन तब तक उसकी जान जा चुकी थी।

Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image