आर्मी जवान की बारात पर मारे ताबड़तोड़ पत्थर, वजह...


अहमदाबाद। गुजरात के बनासकांठा जिले में 16 फरवरी रविवार को एक आर्मी जवान की शादी थी। शादी के बाद जवान ने घोड़ी पर बैठकर अपनी बारात निकाली तो गांव वालों ने उस पर पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। बाराती समेत दूल्हा भी घायल हो गया। यह घटना सुबह 11 बजे के आसपास हुई जब जम्मू-कश्मीर में तैनात सेना के जवान 27 वर्षीय आकाश कोइतिया की शादी का जुलूस शरीफदा गांव में चल रहा था। तभी अचानक गांव के लोगों ने जवान की शादी की बारात पर घोड़ी चढ़ने की वजह से पथराव करना शुरू कर दिया। 


इसकी वजह थी जवान का दलित होना। जवान गांव में दलित समुदाय से आता है ऐसे में घोड़ी पर चढ़कर बारात ले जाने पर गांव में सवर्ण जाति के लोगों ने एतजार जताया और पत्थरबाजी करके जवान की बारात को रोक दिया। गांव के ठाकोर कोली समुदाय ने दलित को घोड़ी पर बारात ले जाने पर आपत्ति जताई थी। ऐसे में जवान ने पुलिस को बुला लिया और फिर पुलिस सुरक्षा के बीच बारात निकाली गई। हालांकि दलित का इतना करना काफी नहीं रहा और पुलिस की मौजूदगी में गांव वालों ने बारात पर जमकर पथराव किया। 


दूल्हे के बड़े भाई विजय कोइतिया ने बताया कि,  "इससे पहले, हमें ठाकोर कोली समुदाय के कुछ लोगों से धमकी मिली थी कि अगर दूल्हा घोड़ी पर चढ़ता है तो वे बारात को गांव से गुजरने नहीं देंगे। हमने पुलिस सुरक्षा के लिए एक लिखित शिकायत दी थी, जिसके बाद 6-7 पुलिस कर्मचारी सुरक्षा देने आए थे।" लेकिन जैसे ही हमने गांव में बारात निकाली लोगों के एक समूह ने पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। हमले में दूल्हे को भी चोट आई। फिर उसे पुलिस की वैन में ले जाया गया। हालांकि, पत्थरबाजी में दो महिलाओं सहित हमारे तीन रिश्तेदार घायल हो गए। 


Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image