बॉयफ्रेंड का खून पी कर रहती है जिंदा, ये है वजह...


ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में रहने वाली 38 वर्ष की जोर्जिया कॉन्डन जिसे आप रियल लाइफ वैम्पायर के नाम से जानते होगें। वैम्पायर की कहानियां तो किताबों में पड़ी या फिल्‍मों देखी होगी परन्‍तु रियल लाइफ में में भी वैम्पायर होते है और इन वैम्‍पायर को लड़कों खून पीना पसंद होता है। यह बॉयफ्रेंड  का खून पी कर रहती है क्योंकि वो खून पिए बिना नहीं रह पाती। जोर्जिया जब 12 साल की थी, तब उसने पहली बार इंसानी खून का स्वाद चखा था। इसके बाद उसके खून पीने की चाहत और बढ़ गई।

 

17 साल की उम्र में उसे एक ऐसी दोस्त मिली जिसने उसे कई दिनों तक खून पिलाया। पर उसे खून पीने की ये आदत कैसे लगी ये जानकर आप हैरान हो जाएंगे। जोर्जिया को खून पीने की आदत वैम्पायर से जुड़ी फिल्में ट्विलाइट, ट्रू ब्लड, वैम्पायर डायरी देखने के बाद लगी। जोर्जिया के अनुसार ब्रिसबेन में ब्लडलस्ट बॉल इवेंट में उसके जैसे कई खून पीने वाले लोग आते हैं। वहीं उसकी मुलाकात बॉयफ्रेंड  जमाएल से हुई थी। जोर्जिया ने अपने बॉयफ्रेंड  से उसका खून पीने की इच्छा जताई तो वो बिना डरे उसके लिए तैयार हो गया था।

 

आपको ये जानकर हैरानी होगी कि दो सालों से साथ रहने वाला उसका बॉयफ्रेंड  उसे हर हफ्ते अपना खून पिलाता है। वहीं जोर्जिया इस आदत के चलते बहुत सारी बीमारियों से ग्रस्त है। उसे एनिमिया के साथ-साथ थैलसीमिया भी है। इसकी वजह से उसे खून का टेस्ट अच्छा लगता है। सिर्फ इतना ही नहीं वैम्पयार की तरह उसे धूप में जाने से डर भी लगता है

Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image