BHU में चर्चा में रहे फिरोज खान के पिता रमजान खान को पद्म पुरस्कार देने का ऐलान

बीएचयू (BHU) के संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय में नियुक्ति के बाद चर्चा में आए फिरोज खान (Feroz Khan) के पिता रमजान खान (Ramzan Khan) को पद्म पुरस्कार देने की घोषणा की गई है.



वाराणसी. काशी हिंदू विश्वविद्यालय (Kashi Hindu University) के संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय में नियुक्ति के बाद जिन प्रोफेसर फिरोज खान (Feroz Khan) का छात्रों और अन्य लोगों ने विरोध किया था, उनके पिता और लोकप्रिय भजन गायक रमजान खान उर्फ मुन्ना मास्टर को केंद्र सरकार ने पद्मश्री से सम्मानित करने का निर्णय लिया है. भगवान कृष्ण और गाय पर लिखे भजनों के लिए रमजान खान को पद्म पुरस्कार देने की घोषणा की गई है.


पूरे राजस्थान में लोकप्रिय हैं भजन गायक रमजान खान


रमजान खान राजस्थान की राजधानी जयपुर में रहते हैं. रमजान खान भगवान कृष्ण और गाय पर भजन लिखते हैं और खुद भजनों की प्रस्तुति भी करते हैं. उनकी पुस्तक श्री श्याम सुरभि वंदना बेहद लोकप्रिय है. गोसेवा का काम करने वाले रमजान खान इलाके में भजन गायक के रूप में जाने जाते हैं, जो पूरे राजस्थान में लोकप्रिय हैं. शनिवार को केंद्र सरकार ने पद्म पुरस्कारों की घोषणा की थी. साथ ही सरकार ने भजन गायक रमजान खान को पद्मश्री देने की घोषणा की है.


चारों बेटों को दिलाई संस्कृत भाषा की तालीम


रमजान ने अपनी बेटियों के नाम हिंदी में रखे हैं. उनकी बेटियों के नाम लक्ष्मी और अनीता हैं. रमजान के चार बेटे हैं. उन्होंने अपने चारों बेटों शकील खान, फिरोज खान, वकील खान और वारिस खान को संस्कृत की शिक्षा दिलाई है.


दूसरे संकाय में फिरोज खान को मिल गई थी नियुक्ति


कुछ माह पहले रमजान के बेटे फिरोज खान की नियुक्ति काशी हिंदू विश्वविद्यालय के संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय में की गई थी. उनकी बीएचयू के इस विभाग में नियुक्ति का छात्रों ने विरोध किया था. इस विवाद के बाद फिरोज खान को बीएचयू के ही दूसरे संकाय में नियुक्ति मिल गई थी.


Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image