भाकियू ने कहा चीनी मिलों में 2 हजार करोड़ का भुगतान बकाया, यूपी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे गन्ना किसान

भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya Kisan Union) के नेता हरिनाम सिंह के मुताबिक प्रदेश की निजी चीनी मिलों पर अभी भी करीब दो हजार करोड़ का बकाया है अगर इसका भी जल्द भुगतान न किया गया तो भाकियू लोकभवन के सामने प्रर्दशन करेगी.



लखनऊ. एक तरफ आज उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi government) ने सहकारी चीनी मिलों (Cooperative sugar mills) के लिए दो सौ करोड़ की धनराशि रिलीज करते हुए गन्ना किसानों (Sugarcane farmers) के बकाए का भुगतान दो दिन के अंदर किए जाने के निर्देश दिए हैं तो वहीं दूसरी तरफ भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya kisan union) ने निजी चीनी मिलों (Private sugar mills) पर दो हजार करोड़ के बकाए का आरोप लगाते हुए योगी सरकार का घेराव किया है साथ ही यूपी सरकार को जल्द भुगतान न कराने की दशा में आंदोलन छेड़ने की भी चेतावनी दी है.

सीएम योगी की सख्ती के बावजूद  4 माह बाद हुआ भुगतान
भारतीय किसान यूनियन के नेता हरिनाम सिंह के मुताबिक 'यूपी की सहकारी चीनी मिलों पर पिछले वर्ष का करीब 294 करोड़ का बकाया है जिसके भुगतान के लिये आज से 4 माह पहले भाकियू ने प्रदेश भर में सरकार के खिलाफ प्रर्दशन किया था'. उन्होंने कहा 'इस दौरान हमने सीएम योगी से मुलाकात की थी जिसमें सीएम ने 4 दिन में बकाया का भुगतान कराने का निर्देश दिया था और वही भुगतान अब 4 माह बाद किया जा रहा है. साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश की निजी चीनी मिलों पर अभी भी करीब दो हजार करोड़ का बकाया है अगर इसका भी जल्द भुगतान न किया गया तो भारतीय किसान यूनियन लोकभवन के सामने प्रर्दशन करेगी.

वहीं गन्ना विभाग के सूत्रों के मुताबिक भी यूपी की विभिन्न चीनी मिलों पर अभी भी पिछले पेराई सत्र का करीब दो हजार करोड़ का गन्ना भुगतान बकाया है. जिसको लेकर सीएम योगी कई बार गन्ना विभाग के अधिकारियों को इसका तत्काल भुगतान कराने का सख्त निर्देश दे चुके हैं. सीएम योगी की सख्ती पर गन्ना विभाग ने बजाज, मोदी और सिंभावली ग्रुप से जुड़ी चीनी मिलों के खिलाफ नोटिस जारी करने के साथ FIR दर्ज कराकर कार्रवाई की खानापूर्ति तो कर दी लेकिन संबंधित चीनी मिलों से पिछले वर्ष के बकाये का भुगतान अब तक नहीं कराया जा सका है. जबकि रिपोर्ट के मुताबिक संबंधित चीनी मिलें पिछले वर्ष के बकाये से अधिक मूल्य की चीनी का मौजूदा वर्ष में उत्पादन कर चुकी हैं.


गन्ना विभाग के प्रमुख सचिव ने नहीं दिया जवाब
वहीं इस बारे में जब News 18 संवाददाता ने गन्ना विभाग के प्रमुख सचिव एवं आयुक्त संजय आर भूसरेड्डी से बातचीत की तो उन्होंने कहा योगी सरकार ने यूपी की 24 में से 20 सहकारी चीनी मिलों पर गन्ना बकाया मूल्य के भुगतान के लिये 200 करोड़ की धनराशि अवमुक्त की है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यूपी की मोरना, पुवांया, स्नेहरोड व सठियावा समेत 4 सहकारी चीनी मिलें बीते वर्ष 2018-19 का बकाया भुगतान कर चुकी है. हालांकि इस दौरान संजय भूसरेड्डी ने न तो सहकारी चीनी मिलों पर पिछले वर्ष के शेष बकाया भुगतान की जानकारी दी और न ही निजी चीनी मिलों समेत यूपी की सभी चीनी मिलों पर पिछले वर्ष के शेष बकाये की ही कोई जानकारी दी.


Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image