370 समाप्त होने के बाद J&K में जो माहौल आज है, वैसा पहले कभी नहीं रहा: स्वामी

पूर्व न्यायाधीश एस एन अग्रवाल के द्वारा लिखी गई किताब 'नेहरूज हिमालयन ब्लंडर्स : द एक्सेसन ऑफ जम्मू एंड कश्मीर' के विमोचन के मौके पर स्वामी ने कहा कि हमने घाटी में इन महीनों में जो शांति देखी है, वैसा पहले कभी नहीं था।





भाजपा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को खत्म करने के बाद जम्मू-कश्मीर में जैसा 'शांतिपूर्ण' माहौल आज है, वैसा पहले कभी नहीं रहा। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने हाय-तौबा मचाया था कि अनुच्छेद 370 के खत्म होने पर भारत का संबंध घाटी से खत्म हो जाएगा, वे सब हकीकत में विफल हो गए।


पूर्व न्यायाधीश एस एन अग्रवाल के द्वारा लिखी गई किताब 'नेहरूज हिमालयन ब्लंडर्स : द एक्सेसन ऑफ जम्मू एंड कश्मीर' के विमोचन के मौके पर उन्होंने कहा कि हमने घाटी में इन महीनों में जो शांति देखी है, वैसा पहले कभी नहीं था। लोग घाटी से मुझे फोन करते हैं और कहते हैं कि 'ऐसा पहले कभी नहीं हुआ'। जम्मू शांत है। लद्दाख शांत है।


स्वामी ने कहा, ''और हिंसा और डर की भी घाटी से जो खबरें आ रही हैं, वह सिर्फ तीन जिलों से आ रही हैं। वह भी इसलिए क्योंकि यहां पहले से ही आतंकवादी छुपे हुए थे।'' पाकिस्तान के बारे में बात करते हुए स्वामी ने कहा कि भारत को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को वापस लेना चाहिए। सिंध, बलूचिस्तान और खैबर पख्तूनख्वा में भी लोग पाकिस्तान के साथ नहीं रहना चाहते हैं और भारत को उनकी मदद करनी चाहिए।



Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image