फूलबेहड़ ब्लाक: नवनिर्वाचित प्रधान, विकास की इच्छा एक समान!

 


इस पंचवर्षीय में ज्यादातर नए प्रधान हुए हैं,  जिन्होंने अच्छे कार्य किए थे उन्होंने फिर वापसी की है। आइए जानें उनकी विकास संबंधी समस्याएं और प्राथमिकताएं-


फूलबेहड़:-

अमृतापुर पंचायत की नवनिर्वाचित प्रधान कमलजीत कौर को पंचायत वासियों ने बड़ी उम्मीदों से प्रधान बनाया है, इसके पीछे उनके समाजसेवी पति रंजीत सिंह की बेहतर छवि का बड़ा हाथ है। हमेशा लोगों के दुख दर्द में अडिग खड़े रहने वाले रंजीत सिंह बेहद जुझारू, कर्मठ व उच्च शिक्षित व्यक्ति हैं। कमलजीत कौर ने कहा कि उनकी प्राथमिकता गांव के हर पात्र व्यक्ति तक सरकार की सभी योजनाओं को प्रभावी ढंग से पहुंचाना है। रंजीत सिंह ने बताया कि पंचायत भवन निर्माण का काम चल रहा है, लेकिन सामुदायिक शौचालय पिछली पंचवर्षीय से ही अधूरा पड़ा है, उसे भी पूरा करवाने का प्रयास है साथ ही रास्तों, जलनिकासी आदि की समस्या पर भी पहले ध्यान दिया जाएगा। पंचायत वासियों के अनुसार रंजीत सिंह ने आते ही राशन वितरण व्यवस्था को तुरंत सुधार दिया है, साथ ही सरकार के वृक्षारोपण अभियान को अपना समय और धन खर्च कर बचाने का प्रयास किया है।

चौरठिया के प्रधान हाजी बशीर अहमद अंसारी को पंचायत वासियों ने तीसरी बार मौका दिया है। पहले वे 1988 में प्रधान रहे फिर 2005 -10 रहे , इस बार फिर वे चुने गए हैं। बशीर अहमद फूलबेहड़ में पुरुष वर्ग में सबसे उम्रदराज प्रधान हैं। उच्च शिक्षित, सलीका पसंद और इस उम्र में भी बहुत ऊर्जावान व्यक्ति हैं। पंचायत वासियों का कहना है कि 88 के दौर में उनके बनवाए सरकारी निजी आवास और सरकारी भवन आज भी पूरी मजबूती से खड़े हैं। उनके दूसरे कार्यकाल को उच्च कोटि का मिड डे मील वितरण के लिए और पंचायत के बहुत से विकास कार्यों के लिए जाना जाता है। इस कार्यकाल में बशीर अहमद की प्राथमिकता सभी योजनाओं को प्रभावी ढंग से लागू करवाना है, साथ ही जिनके परिवार बड़े हो गए हैं उनके सदस्यों को आवासीय जमीन दिलाना है।

सुंदरवल पंचायत के नवनिर्वाचित प्रधान गुफरान खान पहली बार प्रधान हुए हैं। उनकी प्राथमिकता में पंचायत घर को अवैध कब्जों, दुकानों से मुक्त कराना है और स्कूलों में शिक्षा सुधार के साथ पंचायत स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में नियमित डाक्टरों की उपस्थिति सुनिश्चित करना है ताकि जनता को शिक्षा और स्वास्थ्य का लाभ मिल सके। इसके साथ सफाई व्यवस्था नालियां रास्ते आदि ठीक करवाना है।

हिंडोलना पंचायत वासियों ने लगातार दूसरी बार एक ही परिवार को प्रधानी सौंपी है। पिछली बार डालचंद प्रधान रहे थे, इस बार उनकी धर्मपत्नी जयदेवी प्रधान हुई हैं। इस बार जयदेवी के प्रधान चुने जाने के पीछे पंचायत वासियों का बस यही कहना है कि डालचंद ने खुद प्रधान रहते पंचायत में बहुत विकास कार्य कराए हैं, लगभग सभी योजनाएं लोगों तक पहुंचाई हैं, उसी ध्यान में रखते हुए जनता ने उनकी पत्नी को प्रधान चुना है ताकि विकास कार्य चलते रहें। डालचंद और जयदेवी ने कहा कि वे हमेशा की तरह ही लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरने का प्रयास करते रहेंगे।

 =============================================================
(यह रिपोर्ट आपको कैसी लगी कृपया ईमेल, व्हाट्सएप, फोन आदि माध्यमों से प्रतिक्रिया भी दें, व अपने क्षेत्र, कार्य सहयोगी ,जनता व जिम्मेदार पदों तक शेयर करें! धन्यवाद! )
Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
महानगर वार्ड: क्षेत्र में भेदभाव और विकास की अनदेखी लाई है ऊषा चौधरी को मैदान में !
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): अगर भाग्य ने साथ दिया तो बीडीसी रहने का अनुभव काम आएगा प्रमोद कुमार रावत को
Image