30 सालो से पिता था सिगरेट, फेफड़े को देख भाग खड़े हुए डॉक्टर’


धूम्रपान करना आपके शरीर के लिए किस कदर हानिकारक हो सकता है इसकी बानगी तब देखने को मिली जब चीन में डॉक्टरों ने एक रोगी के मरने के बाद उसके फेफड़ों को शरीर से बाहर निकाला। मरते हुए किसी को अपने शरीर के अंग दे जाना नेक काम कहलाता है। लेकिन हाल ही में चीन में एक ऐसा मामला सामने आया हैं जहां डॉक्टरों ने उस व्यक्ति के फेफड़े को लेने से इनकार कर दिया। 


मरे हुए व्यक्ति के डॉक्टर ने पहले कई टेस्ट किए ऑपरेशन कर जैसे ही फेफड़े को देखा सभी डॉक्टर चौक पड़े। डॉक्टरों ने देखा की उस व्यक्ति के फेफड़े पूरी तरह से काले पड़ चुके थे। चीन में एक व्यक्ति ने अपने मरने के बाद अपने अंग को डोनेट किया था। लेकिन जब डॉक्टर के फेफड़े लगाने के लिए उस व्यक्ति के फेफड़े को निकाला तो फेफड़ा पूरी तरह काला पाया। 


डॉक्टर का कहना है कि इन फेफड़ो का कोई इस्तेमाल नहीं हो सकता। डॉक्टर के अनुसार फेफड़े का रंग हल्का गुलाबी होना चाहिए। लेकिन यह पूरी तरह काला था। ऐसे फेफड़े इस्तेमाल में नहीं लाये जा सकते। डॉक्टर ने इसका पूरा वीडियो भी बनाया है जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। डॉक्टरों को मृत व्यक्ति के घरवालों से जानकारी मिली की यह व्यक्ति पिछले 30 साल से सिगरेट पीता था। वह पूरी तरह चैनस्मोकर था अगर एक बार शुरू हो जाए तो तीन-चार सिगरेट पीकर ही रुकता था।


Popular posts
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image
एक चौथाई कार्यकाल के बाद प्रसिद्ध देवा ब्लाक में विकास की स्थिति कुछ- कुछ ठीक रही है!
Image
शहीद भगत सिंह वार्ड द्वितीय (नया वार्ड) : युवा जोश युवा सोच से ओत- प्रोत वीरेंद्र राजपूत
Image