मैनपुरी: 74 फर्जी शिक्षकों की सेवा समाप्त होने से मचा हड़ंकप

एसआईटी की जांच में सामने आया ज्यादातर शिक्षकों ने फर्जी तरीके से अपने अंक पत्रों में फेरबदल करके अंक बढ़वा लिए तो कई ने B.Ed के अंकपत्र फर्जी लगा दिए.



मैनपुरी. उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जनपद (Mainpuri) में एसआईटी (SIT) द्वारा की गई जांच में 74 शिक्षकों को फर्जी घोषित किया गया. बेसिक शिक्षा अधिकारी (BSA) ने सभी शिक्षकों को सेवा से बर्खास्त कर दिया. बर्खास्त शिक्षकों की डिग्री आगरा के डॉक्टर भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय की है. ज्यादातर की डिग्री फर्जी पाई गई और कुछ शिक्षकों की मार्कशीट में फेरबदल करके अंक बनाए गए हैं. एसआईटी की जांच के बाद जिला चयन समिति ने भी सभी के खिलाफ रिपोर्ट कराने के निर्देश खंड शिक्षा अधिकारियों को दिए हैं. इन शिक्षकों से वेतन की भी रिकवरी की जाएगी.

अंत पत्रों में किया गया फेरबदल

एसआईटी की जांच में सामने आया ज्यादातर शिक्षकों ने फर्जी तरीके से अपने अंक पत्रों में फेरबदल करके अंक बढ़वा लिए तो कई ने B.Ed के अंकपत्र फर्जी लगा दिए. एसआईटी ने जब गंभीरता से जांच की तो जांच में जो खुलासे हुए वह और भी हैरान करने वाले थे बर्खास्त शिक्षकों में 33 शिक्षकों का B.Ed अंकपत्र फर्जी है. वहीं 41 शिक्षकों ने फर्जी तरीके से अंक पत्रों में नंबर बढ़ा लिए थे, जिन अंक पत्रों में नंबर बढ़ाए गए थे उसमें 30 से 40 अंक तक बढ़ाए गए थे.

बर्खास्त शिक्षकों पर होगी FIR दर्ज


एसआईटी द्वारा फर्जी घोषित किए गए शिक्षकों को जिला चयन समिति के निर्णय के बाद बर्खास्त किया गया है और अब इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए गए हैं. अब इन शिक्षकों की बर्खास्तगी के साथ ही पिछले 10 साल में दिए गए वेतन की भी वसूली की जाएगी. बेसिक शिक्षा अधिकारी विजय प्रताप सिंह ने बताया कि सभी 74 शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की जाएगी.

यह था मामला

डॉ भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय से वर्ष 2004 -5 में B.Ed करने वाले जिले के 78 शिक्षकों को एसआईटी ने फर्जी घोषित किया था. 2017 में एसआईटी ने इन शिक्षकों की बर्खास्तगी के लिए सीडी बीएसए कार्यालय को भेजी थी. 2 वर्ष तक चली कई चरणों की जांच के बाद 74 शिक्षकों की बर्खास्तगी जिला चयन समिति के निर्देश के बाद की गई.


Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
महानगर वार्ड: क्षेत्र में भेदभाव और विकास की अनदेखी लाई है ऊषा चौधरी को मैदान में !
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): अगर भाग्य ने साथ दिया तो बीडीसी रहने का अनुभव काम आएगा प्रमोद कुमार रावत को
Image