Defence Expo: लखनऊ में गोमती के किनारे से 64,000 पेड़ों पर आरी चलाने की तैयारी

सूत्रों के मुताबिक हनुमान सेतु से लेकर निशातगंज तक गोमती किनारे लगे पेड़ हटाने (काटने) का प्रस्ताव भेजा गया है. डिफेंस एक्सपो (Defence Expo 2020) खत्म होने के बाद गोमती किनारों पर नए पेड़ लगेंगे.



लखनऊ. प्रदूषण (Pollution) की मार झेल रहे राजधानी लखनऊ (Lucknow) में अगले साल फरवरी में होने वाले डिफेंस एक्सपो (Defence Expo 2020) के लिए गोमती नदी (Gomti River) के किनारे से 64,000 पेड़ हटाने (काटने) की तैयारी की जा रही है. नगर निगम ने डिफेंस एक्सपो के लिए एलडीए से 63,799 पेड़ हटाने के लिए पत्र लिखा है. डिफेंस एक्सपो के दौरान सैन्य उपकरणों (Defence Equipments) के प्रदर्शन और अन्य सुविधाओं के लिए पेड़ हटाने की ये तैयारी की जा रही है. हनुमान सेतु से लेकर निशातगंज तक गोमती किनारे लगे पेड़ हटाने का प्रस्ताव भेजा गया है. डिफेंस एक्सपो खत्म होने के बाद गोमती किनारों पर नए पेड़ लगेंगे.

LDA ने पेड़ के बदले मांगे 59 लाख रुपए

लिहाजा, लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी (LDA) ने दोबारा पेड़ लगाने के लिए नगर निगम से 59 लाख रुपए की मांग की है. एलडीए का कहना है कि गोमती के किनारे इन पेड़ों को लगाने के लिए 59,06,827 रुपए खर्च किए गए थे. इसके लिए एलडीए सचिव एमपी सिंह ने नगर आयुक्त को पत्र लिखा है. दरअसल, नगर आयुक्त से खर्च हुई रकम की मांग उस पत्र के बाद की गई है जिसमें नगर निगम ने डिफेन्स एक्सपो के आयोजन के लिए गोमती तट पर लगे पौदों को किसी और जगह विस्थापित करने की नात कही थी. सचिव ने पैसे की मांग के साथ ही नगर निगम को सिंचाई और वन विभाग से भी एनओसी लेने की बात कही है.



उखाड़ने पर नष्ट हो जाएंगे पौधे


एमपी सिंह ने कहा कि सर्दी का मौसम होने के कारण पौधों को विस्थापित किया जाना संभव नहीं है. इससे [पौधे, हरियाली और लैंडस्केपिंग नष्ट हो जाएंगे. ऐसे में फिर से हरियाली लगाने के लिए दोबरा पैसों की जरूरत पड़ेगी. इसके लिए ही नगर आयुक्त को पत्र लिखा गया है.

15 जनवरी तक गोमती तट सेना को है सौंपना

डिफेंस एक्सपो के आयोजन के लिए 15 जनवरी तक गोमती तट को सेना के हवाले करना होगा. ये आदेश जिलाधिकारी ने गुरुवार को संबंधित विभागों को दिए हैं. डीएम ने यह भी कहा है कि गोमती के दोनों तटों पर लोगों के बैठने की व्यवस्था करनी होगी. पहले यह एक ही ओर प्रस्तावित था.


बता दें कि यह पहला मौका होगा जब लखनऊ 'द डेफएक्सपो' की मेजबानी करेगा. इसमें बड़ी संख्या में अग्रणी देशों के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे. अधिकारी ने बताया कि बड़ी विदेशी और स्वदेशी कंपनियां इस प्रदर्शनी में अपने अत्याधुनिक हथियारों का प्रदर्शन करेंगी. इनकी नजर विश्व के सबसे बड़े हथियार आयातक देश के लाभदायक सैन्य बाजार पर होगी.

5 से 8 फरवरी के बीच आयोजित होगा Defence Expo

लखनऊ में अगले साल पांच से आठ फरवरी के बीच आयोजित होने वाले 11वें डिफेंस एक्सपो इंडिया-2020 का थीम 'भारत  उभरता हुआ रक्षा विनिर्माण केंद्र' रखा गया है. डिफेंस सेक्टर में तेजी से उभरते उत्तर प्रदेश में आयोजित होने जा रहे इस मेले में दुनियाभर के अत्याधुनिक हथियारों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी.


Popular posts
शहीद भगत सिंह वार्ड द्वितीय : नए वार्ड के विकास के लिए पूरी प्रतिबद्धता से चुनावी लड़ाई में हैं दिनेश कुमार रावत
Image
जानकीपुरम वार्ड तृतीय : शिक्षित- समर्पित, जनता व पार्टी के लिए लाभकारी पार्षद होंगे राकेश रावत (एडवोकेट)
Image
फजुल्लागंज वार्ड चतुर्थ : युवा जोश और विकास की नई सोच से ओत-प्रोत हैं पंकज रावत उर्फ आदित्य
Image
शहीद भगत सिंह वार्ड प्रथम : श्री राधाकृष्ण मंदिर के आशीर्वाद से जनता तो खुश रहेगी ही, पार्टी भी खुश रहेगी - मायाराम यादव
Image
शहीद भगत सिंह वार्ड प्रथम : वार्ड की जनता ने ठाना है उपविजेता प्रकाश राजपूत को अबकी विजेता बनाना है।
Image