तृणमूल की राज्यपालों की भूमिका पर संसद में चर्चा कराने की मांग


नई दिल्ली। तृणमूल कांग्रेस ने आज कहा कि उसने संसद के शीतकालीन सत्र में राज्यों में राज्यपालों की भूमिका पर चर्चा कराने की मांग की है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला द्वारा शनिवार को यहां बुलायी गयी सर्वदलीय बैठक के बाद तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने संवाददाताओं से कहा कि उनकी पार्टी चाहती है कि राज्यपालों की भूमिका पर संसद में चर्चा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पार्टी की ओर से सर्वदलीय बैठक में उन्होंने यह मांग रखी है। पश्चिम बंगाल में राज्यपाल पर समानांतर सरकार चलाने की कोशिश करने का भी उन्होंने आरोप लगाया । उन्होंने कहा कि राज्यपाल राज्य सरकार की जानकारी के बिना राज्य में विभिन्न जगहों पर आ जा रहे हैं।

 

बंदोपाध्याय ने कहा कि उनकी पार्टी इसके अलावा बेरोजगारी, देश की आर्थिक हालत, महंगाई और अन्य ज्वलंत मुद्दों पर भी संसद में नियम 193 के चर्चा की मांग करेगी। इसके अलावा तृणमूल कई अन्य मुद्दों पर अल्पकालिक चर्चा कराने के लिए भी नोटिस देगी। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने लोकसभा अध्यक्ष को संसद सत्र के दौरान पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया है। शीतकालीन सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है और 13 दिसम्बर तक चलेगा।