राम मंदिर का निर्णय स्वर्णाक्षरों में लिखने योग्य: उद्धव ठाकरे


मुंबई। शिव सेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा है कि अयोध्या में राम मंदिर के संबंध में उच्चतम न्यायालय का आज का निर्णय स्वर्णाक्षरों में लिखने योग्य है। ठाकरे ने कहा कि राम मंदिर का विवाद बहुत लंबे समय से चल रहा था और आज विवाद समाप्त होने पर उन्हें खुशी है। उन्होंने कहा कि आज दिवंगत बाल ठाकरे की याद आना स्वाभाविक है। उन्होंने कहा कि राम मंदिर के लिए भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी का बहुत बड़ा योगदान है। वह जल्द ही आडवाणी से मुलाकात करेंगे।


उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष वह अयोध्या गये थे तब शिवनेरी की पवित्र मिट्टी लेकर गये थे और अयोध्या में भगवान राम की आरती भी की थी। ठाकरे ने कहा कि अगले 2-3 दिन में वापस शिवनेरी जाउंगा और 24 नवंबर को अयोध्या जाने की योजना बना रहा हूं। उन्होंने कहा कि इस निर्णय से न किसी की हार हुयी है और न किसी की जीत, इसलिए ऐसा कोई कार्य नहीं किया जाना चाहिए जिससे किसी का दिल दुखे। वह सभी लोगों से शांति बनाये रखने की अपील करते हैं।