मायावती का BSP में बदलाव, नेताओं से कहा- काम नहीं हो रहा तो दूसरी जगह देख लें

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने को-ऑर्डिनेटर मंडल और जोन व्यवस्था भंग कर दी है. इसकी जगह अब सेक्टर व्यवस्था लागू की जाएगी, जिसके तहत पूरे यूपी को चार सेक्टर में बांटा गया है.




  • बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने बुलाई संगठन की बैठक

  • पार्टी में बड़े स्तर पर हो सकती है फेरबदल


उत्तर प्रदेश की विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) को करारी हार का सामना करना पड़ा. इस हार के बाद बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने बड़ी बैठक बुलाई है. बुधवार को होने वाली इस बैठक में बीएसपी प्रदेश अध्यक्ष, सभी जोन के इंचार्जों और जिम्मेदार पदाधिकारियों को बुलाया गया है. बताया जा रहा है कि मायावती बड़े स्तर पर संगठन में फेरबदल कर सकती हैं.


हाल ही में मायावती ने बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) में बड़ा फेरबदल किया था. मुनकाद अली को उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया था वहीं आरएस कुशवाहा को बीएसपी का राष्ट्रीय महासचिव बनाया था. इसके अलावा जौनपुर से लोकसभा सांसद श्याम सिंह यादव को बीएसपी संसदीय दल का नेता बनाया था, जबकि सांसद रितेश पांडेय को लोकसभा में पार्टी का डिप्टी लीडर बनाया था.


वहीं दानिश अली को बीएसपी संसदीय दल के नेता के पद से हटा दिया था. हालांकि सांसद गिरीश चंद्र जाटव लोकसभा में बीएसपी के चीफ व्हीप बने हुए हैं.


बसपा ने 2019 के लोकसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन के चलते मोदी लहर में अच्छा प्रदर्शन किया था. लोकसभा चुनाव 2019 में बसपा ने 10 सीटों पर जीत दर्ज की थी, जिसके बाद समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन से किनारा कर लिया था. अब यूपी में बसपा एक बार फिर से विधानसभा चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करना चाहती है. ऐसे में पार्टी की यह बैठक बेहद अहम मानी जा रही है.