बंदर ने पेशाब कर बचाई 30 लोगों की जान, किया कुछ ऐसा...


कर्नाटक से एक अजीब मामला सामने आया है...यहां एक बंदर ने पेशाब कर कई लोगों की जान बचाई। बता दें कि बीते शनिवार को श्रीरंगापट्टनम में कावेरी नदी के तट पर एक धार्मिक अनुष्ठान के लिए एक परिवार के 30 लोग पहुंचे थे। कावेरी नदी में पवित्र स्नान करने के बाद वे सभी वहां एक आम के पेड़ के नीचे बैठे थे। उन्हें वहां बैठे अभी पांच मिनट भी नहीं हुए थे कि पेड़ पर ऊपर बैठे एक बंदर ने नीचे बैठे लोगों पर पेशाब कर दी। इससे झल्लाए व गुस्साए परिवार के सदस्यों ने बंदर को लानत भेजते हुए पेड़ के नीचे से हट गए। हालांकि, परिवार के तीन अन्य सदस्य जो पेड़ की दूसरी तरफ थे, वहीं बैठे रहे।

 

अचानक ही आम का वह विशाल पेड़ गिर पड़ा, जिसके नीचे वे तीन सदस्य दब गए। इनमें से एक रत्नामा (40 वर्ष) की मौत मौके पर ही हो गई और जबकि दो अन्य दक्षिणी (25 वर्ष) और पुनुइता (10 वर्ष) घायल हो गए। एक सदस्य की मौत से परिवार के अन्य सदस्य दुखी थे, लेकिन साथ ही उस बंदर के प्रति आभारी भी थे जिसे वे थोड़ी देर पहले लानतें भेज रहे थे। परिवार के एक सदस्य ने कहा कि बंदर के पेशाब करने की वजह से ही इतने सारे लोगों की जान बच गई। इसलिए कहा जाता है कि जो भी होता है, वह अच्छे के लिए ही होता है।

 

Popular posts
शहीद भगत सिंह वार्ड द्वितीय : नए वार्ड के विकास के लिए पूरी प्रतिबद्धता से चुनावी लड़ाई में हैं दिनेश कुमार रावत
Image
जानकीपुरम वार्ड तृतीय : शिक्षित- समर्पित, जनता व पार्टी के लिए लाभकारी पार्षद होंगे राकेश रावत (एडवोकेट)
Image
फजुल्लागंज वार्ड चतुर्थ : युवा जोश और विकास की नई सोच से ओत-प्रोत हैं पंकज रावत उर्फ आदित्य
Image
शहीद भगत सिंह वार्ड प्रथम : श्री राधाकृष्ण मंदिर के आशीर्वाद से जनता तो खुश रहेगी ही, पार्टी भी खुश रहेगी - मायाराम यादव
Image
शहीद भगत सिंह वार्ड प्रथम : वार्ड की जनता ने ठाना है उपविजेता प्रकाश राजपूत को अबकी विजेता बनाना है।
Image