बंद हो सकते हैं चार हजार से ज्यादा बीएड और डीएड कॉलेज


एक हजार कॉलेजों को नोटिस जारी


New Delhi: फर्जी तरीके से सिर्फ कागजों में चल रहे बीएड और डीएड कॉलेजों पर जल्द ताले लग जाएंगे। एनसीटीई (नेशनल काउंसिल ऑफ टीचर एजुकेशन) ने अपनी जांच में ऐसे सभी कॉलेजों को खोज निकाला है। इनकी संख्या देशभर में चार हजार से ज्यादा है। पहले चरण में देशभर के करीब एक हजार बीएड और डीएड कॉलेजों की संबद्धता खत्म करने के लिए नोटिस भी जारी कर दिए गए हैं। बाकी कॉलेजों को भी जल्द ही नोटिस जारी किए जाएंगे। एनसीटीई ने यह कदम कॉलेजों की जांच के बाद उठाया है, जिसमें सभी कॉलेजों को जरूरी दस्तावेजों के साथ अपने संचालन के सुबूत भी देने थे। कॉलेजों को यह जानकारी एक हलफनामे के जरिये देनी थी।


चार हजार से ज्यादा कॉलेजों ने न तो कोई दस्तावेज दिया और न संचालन का कोई सुबूत दिया गया। एनसीटीई के मुताबिक, देशभर में 16,000 बीएड और डीएड कॉलेज हैं, जबकि जांच के दौरान कुल 12,000 कॉलेजों ने ही अपने संचालन का सुबूत दिया। मानव संसाधन विकास मंत्रलय से जुड़े वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, जांच में सुबूत पेश नहीं करने वाले कॉलेजों के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो गई है। इनमें सबसे ज्यादा कॉलेज उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान के हैं।


पहले चरण में एक हजार कॉलेजों को नोटिस दे दिया गया है। जवाब मिलते ही इनकी संबद्धता रद करने की कार्रवाई की जाएगी। सभी कॉलेजों को 15 दिन में नोटिस का जवाब देना है। काउंसिल से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक जो कॉलेज दस्तावेज नहीं दे पाए हैं, उनमें से ज्यादातर का संचालन पहले से संदिग्ध था। अब इन कॉलेजों का बच पाना मुश्किल है।


 


Popular posts
जानकीपुरम तृतीय वार्ड (नया वार्ड): जो संघर्ष अपने जीवन के लिए किया है वही वार्ड के विकास के लिए करूंगा- गया प्रसाद रावत
Image
खरगापुर सरसवां : (नया वार्ड) निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा विरासत में मिली है अजय कुमार यादव को
Image
खरगापुर सरसवां : जैसे मलेशेमऊ का विकास किया वैसे ही पूरे वार्ड का विकास करूंगा - मो० फारूख प्रधान
Image
जानकीपुरम तृतीय (नया वार्ड) : सादगी, संघर्ष व जनसेवा की मिसाल हैं प्रतिभा रावत
Image
खरगापुर सरसवां - मौका मिला तो प्रदेश में केले की सफल खेती की तरह ही वार्ड को सफल बनाऊंगा - राजकेशर सिंह
Image